Political Trends


 22, Apr 2022 11:37 AM     138

First choice of leaders for election campaign - Social media

सोशल मीडिया ने देश को चुनाव प्रचार के लिहाज से एक नया रंग दे दिया है। चाहे बात खबरों की हो, विरोधियों पर निशाना साधना हो या फिर किसी के प्रभावशीलता को देना हो बढ़ावा, इस माध्यम के जरिए चुनावी माहौल में नेता हर तरह का हथियार मजबूती से चला रहे हैं। आधुनिक युग में जहां आज सारा विश्व मोबाइल की स्क्रीन पर आ गया है तो लिहाजा ऐसे समय में आपकी बात जनता तक सीधे पहुंचाने का माध्यम भी इन्हीं में से एक होना चाहिए। हालिया आंकड़ों के मुताबिक भारत में औसतन हर नागरिक हफ्ते में 17 घंटे सोशल मीडिया पर बिताता है। इसका आलम ये है कि Social Media इस्तेमाल के मामले में भारतीयों ने चीन और अमेरिका जैसे देश को भी पीछे छोड़ दिया है। भारत में कुल 56 करोड़ इंटरनेट सब्सक्राइबर हैं। इनमें युवाओं की तादाद सबसे ज्यादा है और उन युवाओं में ज्यादातर पहली बार वोट करने वाले नागरिक भी रहे हैं। ये आंकड़ा ये बताने के लिए पर्याप्त है की आखिर सोशल मीडिया के जरिये कितने बड़े और विशाल जनसमूह तक संवाद स्थापित किया जा सकता है। यही वजह नेताओं और चुनावी पार्टियों को सोशल मीडिया के जरिये प्रचार करने के लिए प्रोत्साहित करता है और लाजमी है इस माध्यम को शायद ही कोई आज के दौर में दरकिनार करे। 



चलिए अब आपको बताते हैं सोशल मीडिया के वो पहलु जो आपके चुनावी रण में आपकी जीत सुनिश्चित करती है। सबसे पहले बात Facebook की करें तो  यह एक ऐसा मंच है जहां आप अपनी बात, अपना चुनावी एजेंडा जनता तक सीधे पहुंचा सकते हैं। Facebook पे लाइव के माध्यम से आप अधिक से अधिक जनता तक अपनी बातों को एक तय नियत समय में पहुंचा सकते हैं। Facebook page के माध्यम से आप अपने कार्यकर्ता, आम जनता और अपने कैडर वोटर्स के लिए अपना संदेश विभिन्न रूपों में जिसमें मुख्यतः ग्राफिक्स, कार्टून, वीडियो, स्लोगन के जरिये पहुंचा सकते हैं। आपकी चुनावी सभाओं को भी सीधा लाइव के माध्यम से आप अपने Facebook page पर प्रसारण कर विभिन्न क्षेत्र की जनता तक अपनी बात रख सकते हैं। जिसका फायदा यह है कि चुनावी सभा जिस क्षेत्र में भी हुई हो पर उसका प्रभाव सम्पूर्ण प्रदेश की जनता पर पड़ता है। 


Social Media के अगले विन्दु पर अगर चर्चा करें तो हमारे सामने Twitter का मंच आता है। चुनावी कैंपेन में तरह तरह के #hashtag प्रत्याशियों के पक्ष में मौहाल बनाते हैं जैसी की #लड़की हूं लड़ सकती हूं, #लड़की_हूं_लड़_सकती_हूं , #फर्कसाफहै , #5सालकेजरीवाल, #सशक्त_मतदाता_जागरूक_मतदाता। ये हैशटैग आपके चुनावी कैंपेन को गति प्रदान करते हैं। इसके साथ ही ट्विटर ट्रेंड के माध्यम से आपका संदेश अहले सुबह की सुर्खियां बटोरता है। ट्विटर का माध्यम आपके राजनीतिक पार्टी में भी आपकी सक्रियता को बढ़ाता है। राष्ट्रीय, क्षेत्रीय या चुनावी मुद्दों पर निरंतर आपके ट्वीट से आपकी राय जनता और पार्टी के अन्य नेताओं तक अपनी पहुंच सुनिश्चित करने में सफल साबित होते हैं

सोशल मीडिया के विभिन्न स्वरूपों में अगला है युवाओं के बीच सबसे अधिक चर्चित और यूज किया जाने वाला Instagram. चुनावी प्रचार में इंस्टाग्राम की भूमिका भी काफी अहम है। इंस्टाग्राम एक ऐसा जरिये जिसके माध्यम से आप युवाओं के साथ अपनी लाइफ स्टाइल, अपना नजरिया, आपके खुशियों के पल साझा कर सकते हैं। जिससे युवा आपके व्यक्तित्व से प्रभावित होकर आपके वोटर के रूप में भी परिवर्तित हो सकते हैं। इंस्टाग्राम के माध्यम से प्रत्याशी अपना चुनावी वीडियो, ऑडियो के साथ ही Reels के माध्यम से भी युवाओं को अपनी ओर आकर्षित करने में सफल साबित होते हैं। इंस्टाग्राम पर विभिन्न सृजनात्मक तरीकों से आप अपने चुनावी संदेश को पिरो सकते हैं। जिसे युवा अत्याधिक पसंद करते हैं और साथ ही शेयरिंग का आंकड़ा भी जोर पकड़ता है। 


आखिर में हम बात करेंगे Whatsapp की जिससे शायद ही आज कोई अछूता रहा हो। व्हाट्सअप की भूमिका भी सोशल मीडिया के जरिये चुनावी प्रचार में काफी अहम है। डेटाबेस के माध्यम से आज किसी भी ख़ास क्षेत्र या प्रदेश के लाखों लोगों के व्हाट्सअप नंबर आसानी प्राप्त किया जा सकता है। इसकी सहायता से आप अपनी वॉइस क्लिप्स,

अपना संदेश एक सिंगल क्लिक में लाखों लोगों तक पहुंचा सकते है। Whatsapp पर बल्क वीडियो कॉल के माध्यम से आप अपने चहेते नेता के साथ सीधा संवाद कर सकते हैं। 


इन सभी सोशल मीडिया और भी अन्य Personalised माध्यमों से आपके चुनावी प्रचार को दिशा और गति प्रदान करने में DG-People की भूमिका अहम होगी।  यह दिशा और आपके कैंपेन को गति मिले इसके लिए आपको जागरूक होना होगा। चुनावी युद्ध की तैयारी समय से पूर्व करना अनिवार्य है अर्थात आप अगर 2024 के लोकसभा या आगामी आने वाले विधानसभा चुनावों में अपनी दावेदारी पेश करने का सोच रहे हैं तो आपके सोशल मीडिया कैंपेन की शुरुआत अब हो जानी चाहिए। अनुभवी चुनावी विश्लेषक और गतिशील युवाओं की टीम हमारी खासियत है। हमने बिहार के विधानसभा चुनाव में जदयू को एक बार फिर सत्ता पर विराजमान किया। चुनाव आपका है पर सोशल मीडिया के जरिये नीति हमारी होगी। सोशल मीडिया आधारित चुनावी कैंपेन मतलब DG-People. आपकी जीत होगी सुनिश्चित।


Follow Us On

DGpeople, here to assist you...
Ask us anything.